नई दिल्ली: वैज्ञानिकों ने कोरोना मरीज की डेड बॉडी से संक्रमण फैलने वाले दावे पर पुष्टि कर दी है। दरअसल थाईलैंड में डेड बॉडी की जांच करने वाला एक मेडिकल प्रोफेशनल कोरोना से संक्रमित हो गया। इस बात की जानकारी जर्नल ऑफ फॉरेंसिक एंड लीगल मेडिसिन स्टडी की एक रिपोर्ट में दी गयी है। यह पहली बार है जब डेड बॉडी से किसी व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।
ये भी पढ़ें: मुंबईः मजदूरों के मुद्दे पर बोले अमित शाह- इससे कोरोना के खिलाफ जंग पड़ेगी कमजोर
इस स्टडी के अनुसार मार्च में डेड बॉडी के जरिए मेडिकल एग्जामिनर संक्रमित हुए थे। ये रिपोर्ट चीन के हैनान मेडिकल यूनिवर्सिटी के विरोज विवानिटकिट और बैंकॉक के आरवीटी मेडिकल सेंटर के वॉन श्रीविजितलई ने लिखा है। वहीं इससे पहले थाईलैंड के कई फ्यूनरल होम ने कोरोना वायरस से पीड़ित मरीज के अंतिम संस्कार से मना कर दिया था। वहीं इसके बाद बीते 25 मार्च को थाईलैंड के डिपार्टमेंट ऑफ मेडिकल सर्विसेज ने कहा था कि डेड बॉडी से संक्रमण नहीं फैलता।

हेल्थ एक्सपर्ट ने किया आगाह
अब हेल्थ एक्सपर्ट ने आगाह किया है कि कोरोना से संक्रमित मरीज की डेड बॉडी के संपर्क में आने वाले सभी लोगों और फ्यूनरल होम में काम करने वालों को भी पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट दिए जाएं। लेकिन WHO का कहना है कि कोरोना मरीज की डेड बॉडी से संक्रमण फैलने की की आशंका कम रहती है अगर मरीज के फेफड़े के संपर्क में आने से बचा जाए। फिर भी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना मरीज के अंतिम संस्कार के दौरान सतर्कता बरतने की अपील की है। हालांकि, अब तक इस बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई है कि दुनिया में डेड बॉडी के संपर्क में आने से कितने लोग कोरोना से संक्रमित हो गए।
ये भी पढ़ें: Covid19: लोगों की मदद के लिए जीवन भर की पूंजी नीलाम कर रही हैं ये बॉलीवुड सिंगर
भारत सरकार ने जारी की गाइडलाइन
हालांकि भारत सरकार कोरोना के मरीजों के अतिम संस्कार के लिए पहले ही गाइडलाइन जारी कर चुकी है। भारत में फॉरेंसिक लैब के स्टाफ प्रोटेक्टिव गीयर के साथ ही डेडबॉडी को हाथ लगाते हैं। इसके अलावा दाह संस्कार में भी काफी कम लोगों को जाने की इजाजत होती है।
ये भी पढ़ें: ये काढ़ा बचाएगा आपकी जान, आपका जहान कोरोना इंफेक्शन से
The post कोरोना: डेड बॉडी से भी फैलता है वायरस? वैज्ञानिकों ने किया ये बड़ा दावा appeared first on Newstrack.