जम्मू-कश्मीर पर चीन की बोलती बंद, अब अकेला पड़ा पाकिस्तान

बीजिंग: भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने सोमवार को चीन की राजधानी बीजिंग में चीनी विदेश मंत्री वांग ली मुलाकात की। मालूम हो, आर्टिकल 370 हटाने के बाद से ये पहला मौका है जब भारत और चीन आमने-सामने आए हों।
यह भी पढ़ें: घाटी में अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ गृह मंत्रालय ने की बड़ी कार्रवाई
वहीं, इस मीटिंग के दौरान कश्मीर मुद्दा भी उठा। दरअसल, पाकिस्तान ने आर्टिकल 370 को लेकर तमाम देशों से मदद मांगी थी। इसमें चीन भी शामिल था। हालांकि, भारतीय विदेश मंत्री ने चीन को ऐसा जवाब दिया कि वह कश्मीर मुद्दे पर शांत हो गया।
चीन ने उठाया ये मुद्दा
जब दोनों विदेश मंत्रियों की मुलाक़ात हुई, तब चीन ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने और राज्य का पुनर्गठन करने का मामला भी उठाया। इसपर विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने स्पष्ट कहा कि जम्मू-कश्मीर को लेकर जो फैसला लिया गया, वह पूरी तरह भारतीय संविधान के तहत है और उससे न तो पाकिस्तान की सीमा पर कोई असर होता है और न ही चीन की।
यह भी पढ़ें: इमरान के पास सिर्फ बहादुर शाह बनने का विकल्प | Yogesh Mishra Blog
बता दें, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित राज्य बनाने के फैसले पर चीन ने भारत से सवाल किए थे। साथ ही, चीन ने ये भी कहा था कि इससे क्षेत्रीय अखंडता पर असर पड़ सकता है। इसके बाद एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि अनुच्छेद 370 का अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कुछ असर नहीं पड़ेगा।
यह भी पढ़ें: इस नेता के बिगड़े बोल, कहा- 100वें स्वतंत्रता दिवस पर भारत के साथ नहीं होगा कश्मीर
विदेश मंत्री एस. जयशंकर के इस जवाब के बाद चीन भी अब शांत हो गया है। इसके साथ ही, अब पाकिस्तान अलग-थलग हो गया है। पाकिस्तान इसी आस में बैठा है कि कोई देश उसके पक्ष में बात करेगा लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं हो रहा है। उल्टा सभी देशों का कहना है कि जम्मू-कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है।
The post जम्मू-कश्मीर पर चीन की बोलती बंद, अब अकेला पड़ा पाकिस्तान appeared first on Newstrack.

admin Author